Tuesday, December 30, 2014

भाषा का आतंक

इंटरनेट के इस दौर में जहां एक तरफ सारी दुनिया ग्लोबल हो गई है......वहीं विश्व को एक नये तरह के आतंकवाद  से सामना करना पड रहा है....एक छोटे से मैसेज से शुरू हई बात कब दंगों में तब्दील हो जाती है पता ही नहीं चलता................अंतरजाल के इस युग में दिनों बढ़ता जा रहा है भाषा का आतंक