Friday, September 14, 2012

डीजल का दाम बढ़ना फायदेमंद भी

डीजल के दाम बढ़ने से हर जगह हाय-तौबा मची हुई है। चारों तरफ सरकार की आलोचना हो रही है, आम आदमी परेशान है और कई जगह सरकार के इस कदम के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं। दाम में बढ़ोतरी के रोलबैक की मांग उठ रही है। डीजल के दाम बढ़ने से ट्रकों ने किराया बढ़ाकर माल ढुलाई महंगी कर दी है। ऐसे में, खाने-पीने की जरूरी चीजें मसलन गेहूं, खाद्य तेल और चीनी आदि की कीमतें बढ़ने के आसार हैं। ऐसी अटकलें भी लगाई जा रही हैं कि रेल-किराया भी बढ़ जाएगा। यानी डीजल के दाम बढ़ने से आम आदमी की जेब में और बड़ी सेंध लगने वाली है। लेकिन, क्या आपने सोचा है कि डीजल के दाम बढ़ने के आपको क्या फायदे होंगे?

पहला फायदाः मकान की EMI कम हो सकती है
सब्सिडी में कमी होने से आरबीआई के लिए ब्याज दरों में कटौती का रास्ता साफ हो गया है। अगर आरबीआई 1% का रेट कट करता है तो 15 साल की अवधि वाले 20 लाख रुपए के लोन पर आप सालाना 1200 रुपए या इससे ज्यादा की बचत कर सकते हैं।

दूसरा फायदाः घट सकती है महंगाई
सेंटिमेंट में सुधार के चलते देश में विदेशी निवेश बढ़ सकता है, जिससे डॉलर के मुकाबले रुपए में मजबूती के पूरे आसार बनते हैं। अगर ऐसा होता है तो आयात सस्ता हो जाएगा।

तीसरा फायदाः शेयर में ज्यादा फायदा
डीजल के दाम बढ़ने से महज एक कारोबारी सेशन में सेंसेक्स में 2.44 पर्सेंट की तेजी दर्ज की गई। उम्मीद है कि सोमवार को बाजार और चढ़ेगा। यानी, आपके निवेश की वैल्यू बढ़ रही है।

चौथा फायदाः जॉब कट, सैलरी कट की चिंता खत्म
सरकार के इस कदम से आपके एंप्लॉयर की आर्थिक संकट की चिंता कम होगी। यानी आपका एंप्लॉयर नई भर्तियों के बारे में बेझिझक सोच सकता है। और फिर आपको भी जॉब कट और सैलरी कट की चिंता नहीं सताएगी।

पांचवा फायदाः पेट्रोल कार है तो मुस्कुराने का मौका
जब तक कच्चे तेल के दाम नहीं बढ़ते पेट्रोल के दाम बढ़ने के कोई आसार नहीं। और अगर डॉलर के मुकाबले रुपया फिर 50 के स्तर तक पहुंचता है तो पेट्रोल के दाम में 10 रुपए की कटौती संभव है। यानी, अगर आप एक महीने में 1,200 किलोमीटर से कम कम्यूट करते हैं तो डीजल कार के लिए 1.5 लाख रुपए एक्स्ट्रा खर्च करने का कोई तुक नहीं।

SOURCE: NAVBHARTATIMES

2 comments:

  1. हिन्दी पखवाड़े की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ!
    --
    बहुत सुन्दर प्रविष्टी!
    इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार (16-09-2012) के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ!

    ReplyDelete
    Replies
    1. हिन्दी पखवाड़े की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ!

      Delete